विधायक जी की रखैल हूँ – 1

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम सीमा है और में भोपाल की रहनी वाली हूँ। मेरी उम्र ३६ साल है और में एक शादी शुदा औरत हूँ। मेरी शादी को करीब १५ साल हो गए है। मेरा एक १० साल की बेटी भी है जो की मेरी मम्मी के पास रहती है। मेरे पति एक राजनितिक पार्टी में कार्यकर्त्ता है और मै भी उनके साथ ही उस पार्टी में एक कार्यकर्त्ता के रूप में ही काम करती हूँ।

कॉलेज के ही टाइम से मै भी एक राजनेता बनाना चाहती थी इसी वहज से मै एक राजनीती पार्टी से जुडी हुई थी। मेरे पति एक छोटे मोठे कार्यकर्त्ता थे, पार्टी में सब उन्हें सब चूतिया और बेवड़ा ही समझते थे। पूरी पार्टी में उनकी कोई इज़्ज़त नहीं थी।

चलिए अब मै अपनी एक सच्ची चुदाई की कहणि सुनाती हूँ की कैसे पार्टी का टिकट पाने के लिए मुझे विधयक जी का लंड की सेवा करनी पड़ी और उन्होंने मुझे उनकी रंडी बना कर बहुत से लोगो से चुदवाया।

मेरा नाम सीमा है और मेरी उम्र ३६ साल है , और मेरा जिस्म (३६ की चूचिया, ३२ की कमर और ३८ की गांड) मेरा फिगर सुनकर तो आप लोग समझ ही गए होंगे की मै एक गदराये हुए जिस्म की औरत हूँ, जिसे हर मर्द अपने लंड से चोदना चाहता है। मेरा रंग भी एक दमगोरा है।
लोग बोलते है कि मै साउथ कि एक्ट्रेस (रम्भा) की तरह दी कहती हूँ। अगर आप लोगो को पता नहीं है है की मै किस की बात कर रही हूँ तो आप लोग एक बार जरूर गूगल पे सर्च करके जरूर देख ले आपको आईडिया लग जाएगा की मै कैसी दिखती हूँ।

यह बात आज से ३ साल पहले की है, हम्हारे प्रदेश में चुनाव होने वाले थे तो हमसब कार्यकर्त्ता विधायक जी के लिए चुनाव की तैयारी में लगे हुए थे। मै और मेरे पति भी रोज विधायक जी के ऑफिस पे चले जाते थे। क्यों की मुझे भी पार्सद की टिकट चाहिए थी ताकि मै भी राजनीती में अपना नाम बना सकू और एक दिन बहुत बड़ी राजनेत बनु।

लेकिन मेरे इस सपने की चाभी विधायक जी के पास ही थी क्युकि पार्सद की टिकट विधायक की सिफारिस से ही मिलते थी। इस लिए मेरा विधायक जी को खुस करना बहुत जरुरी था।

चलिए में आपको विधायक जी के बारे में भी थोर्डा बता देती हूँ। विधायक जी नाम विक्रम प्रताप सिंह था वह ६ फ़ीट के लम्बे चौड़े आदमी थे। विधायक जी पिछले २ बार से जीत रहे थे और इस बार भी उनका जीतना तय था क्युकि उनका हम्हारे एरिया में अलग ही वर्चस्व
था। हर हकोई उनसे डरता भी था और उनकी इज़्ज़त भी करता था।

एक दिन की बात है जब मै विधायक जी की ऑफिस में अपने काम में बिजी थी और इस टाक में भी थी की कब मुझे विधायक जी के साथ कुछ टाइम अकेले में मिले की में उनसे अपनी पार्सद की टिकट वाली बात करू तो उस दिन इत्तफाकन मुझे टाइम थोर्डा सा टाइम मिले गया जब मै और विधायक जी अकेले थे क्यों की नॉर्मली आयशा होता नहीं था कभी, तो मने भी मौके का फायदा उठा कर विधायक जी से बात कर्ली।

मै :- विधायक जी मुझे आप से कुछ काम था।
विधायक जी :- हां सीमा बोलो क्या बात है ?

मै :- वह क्या है न विधायक जी मै इतने साल से आपके साथ काम कर रही हूँ पर आज तक मेने कुछ नहीं माँगा, तो क्या मै आज आपसे कुछ
मांग सकती हूँ।

विधायक जी :- हां बिलकुल सीमा बाताओ क्या बात है क्या चाहिए तुम्हे ??

मै :- विधायक जी मै वह चाहती थी की आने वाले पार्सद के चुनाव में आप में एक टिकट दे।
विधायक जी :- सीमा यह तुम कैसी बात कर रही हो, क्या तुम्हरे पास चुनाव लड़ने के लिए पैसे है ??

पैसो वाली बात का तो मेने कभी सोचा ही नहीं था की कैसे होगा क्यों की हम लोगो के पास पैसे नहीं थे क्यों की हम लोग बहुत गरीब थे।

मै :- विधायक जी यह तो हम्हारे पास इतने पैसे नहीं है। अगर आप थोर्दी मदत कर देते तो मै आपको पुरे पैसे दे देती बाद मे।
विधायक जी :- सीमा इसके बदले मुझे क्या मिलेगा ???

यह बात बोलते हुए मुझे विधायक जी के चहरे पे एक अलग सी चमक दी खायी दी।

विधायक जी :- सीमा में तुम्हे टिकट और पैसे दोनों देदुगा पर बदले में मुझे क्या मिलेगा ???
मै :- विधायक जी में कुछ भी करने को तैयार हूँ, बस आप बोलो मुझे क्या करना होगा।
विधायक जी :- सोचलो सीमा कुछ भी मतलब कुछ भी होता है।

विधायक जी की इस बात से मुझे आईडिया लग गया था वह किस बारे में बात कर रहे है, पर मेने सोच लिया था की मुझे यह टिकट किसी भी हाल में चाहिए ही था।

मै :- हां विधायक जी में कुछ भी करने को तैयार हूँ आप तो बस हुकुम दीजिये।
विधायक जी :- ठीक है फिर तो सीमा सुनो बदले में तुम्हे मेरी रंडी बनाना पड़ेगा मै में जब भी चहु जहा भी चहु मेरे लंड की पायस बुझाने आना होगा और मै जायसा भी बोलू वह करना होगा, बोल मंजूर है तो ???

मै तो यह सब सोच कर ही आयी थी की यह सब तो होगा ही क्यों की मैने पहले ही सुन रखा था की विधायक जी बहुत बड़े चोदू है।

मै :- जी हां विधायक जी मै तैयार हूँ आपकी रांड बनने के लिए आप जब भी चाहो मुझे चोद सकते हो मै हमेशा अपने सरे छेद आपके लिए खोल कर रखूगी।

मेरी बात सुनकर विधायक जी खुस हो गए।

विधायक जी :- अरे वह सीमा तू तो बहुत बड़ी रांड लगती है, तुझे तो चोदने में बहुत मज़ा आएगा। चल एक काम कर जल्दी से आजा और और मेरे लंड चूस कर बता की तुझे कितना आता है, तू मेरी रंडी बनाने लायक भी है की नहीं।

तो मै बिना देर किये विधायक जी टेबल के निचे घुस कर बैठ गई और उनका पैजामा उतर कर उनका लंड बाहर निकल लिया। विधायक जी का लंड बहुत मोटा और लम्बा था और कला भी बहुत था मनो किसी अफ्रीकन का लंड हो, कॉलेज में में बहुत लगो से चूड़ी थी पर आयशा लंड मेरे लिए पहली बार था और मेरे पति के लंड की तो बात ही मत करो वह भी चूतिया और उसका लंड भी चूतिया।

मैने बिना देर किये विधायक जी का लंड लंड मुँह ले कर चूसने लगी।

मै :- मुउउउह मुउउउउउह मममममम मुउउउह मममममम।
विधायक जी :- वह सीमा तू तो क्या मस्त लंड चुस्ती है, कहा से सीखा एसा लंड चूसना ?
मै :- उम्म्म मुहह्ह्ह्ह मुउउउउह कॉलेज में भी मेरे बॉयफ्रेंड ने सिखाया था विधायक जी मुहहह मुउउउह ऊऊह्ह्ह्ह।

करीब १० मिनट विधायक जी का लंड चूसने के बाद विधायक जी का पानी मेरे मुँह में ही निकल गया और मैने वह मुठ पूरा पि लिया।

फिर अपना मुँह साफ करके में टेबल से बहार निकल आयी। विधायक जी बहुत कुश नज़र आरहे थे।

विधायक जी :- हां सीमा तू तो सच में बहुत अच्छी रंडी बनेगी यह ले तेरा इनाम। (उन्होंने ५००० रुपये निकल कर मुझे दे दिए) अभीयह शुरुआत है सीमा अभी तुझे मेरी बहुत सेवा करनी है फिर तुझे इसका फल मिलेगा।

मै :- मै तो तैयार ही हूँ विधायक जी बस आप मुझे भूल मत जाना टिकट देते टाइम।
विधायक जी :- हां हां बिलकुल तू बस मुझे खुस रख बाकि मुझे पे चोर्ड दे।

अभी के लिए बस इतना ही आगे की कहनी में आपको पता चल लेगा की कैसे विधायक जी ने मेरे जिस्म की सारे छेद खोले और मुझे रांड बनाकर किस किस से चुदवाया।

धन्यवाद