मैथ के सवाल समझाने के बाद लिया सेक्स का मजा

हेलो दोस्तों उम्मीद है कि आप सब लोग कुशल मंगल होंगे और जिंदगी अच्छी गुजर रही होगी। तो आपके दिन भर के थकान और तनाव को दूर करने के लिए आज फिर मैं एक नई कहानी के साथ हाजिर हूं।

उम्मीद करता हूं कि यह कहानी आपको पसंद आएगी। मेरा नाम रंजन है और मैं बारहवीं में पढ़ता हूं। क्योंकि 11वीं क्लास में मेरे नंबर कम आए थे इसलिए घरवालों ने मेरी ट्यूशन लगवा दी और मुझे हर रोज ट्यूशन पढ़ने के लिए जाना पड़ता था। अगर मैं आपके अपने बारे में बताऊं तो मैं दिखने में काफी हैंडसम और मेरी हाइट 6 फिट के करीब है।

मेरे लंड का साइज भी 7 इंच है और काफी मोटा भी है। जब मैं पहले दिन ट्यूशन पर गया तो सभी लड़कियां मेरी तरफ देख रही थी और मुझे घूरे ही जा रही थी। लेकिन क्योंकि घर वालों का बहुत प्रेशर था पढ़ाई करने के लिए इसलिए मैंने किसी पर भी कोई ध्यान नहीं दिया और ट्यूशन सिर्फ पढ़ने के लिए जाता और ट्यूशन खत्म होते ही सीधा घर को वापस आ जाता।

इस तरह मैं ट्यूशन पर एक अव्वल विद्यार्थी बन गया और टीचर लोग भी मेरी प्रशंसा करने लगे। ट्यूशन पढ़ते मेरे को 2 महीने हो गए थे और अब मैं थोड़ा बहुत लड़कियों के साथ खुलने लगा था। लेकिन ऐसी एक भी लड़की नहीं थी जो मेरे मन को भाई हो और जिसको मैं अपनी गर्लफ्रेंड बनाना चाहता। फिर एक दिन मैंने सर को एक लड़की से बात करते हुए देखा तो पहली नजर में ही वह मेरे को भा गई।

पहले सिर्फ उसे 10 सेकंड के लिए देखा होगा लेकिन दिन भर वह मेरे दिमाग में घूमती रही और सोते वक्त भी मैं उसी की यादों में खोया हुआ था। फिर अगले दिन जब मैं ट्यूशन गया तो मैंने देखा कि वह लड़की भी वहां पढ़ने के लिए आई थी और कल वह सर से मिलकर ट्यूशन ज्वाइन करने की बात ही कर रही थी। क्योंकि वह 2 महीने लेट थी इसलिए सर ने मुझे बोला कि तू इस लड़की को अपनी कॉपी वगैरा दिखा देना ताकि यह इतना पिछड़ा हुआ काम पूरा कर सके और इसकी थोड़ी मदद भी कर देना।

सर ने उस लड़की को भी कह दिया कि इस लड़के से मदद ले लेना यह यहां का सबसे अव्वल विद्यार्थी है। उसने मेरी तरफ देखा और हल्का सा मुस्कुराई और मैंने भी उसकी स्माइल का जवाब एक स्माइल से दिया और फिर सर का लैक्चर स्टार्ट हो गया। ट्यूशन खत्म होने के बाद वह मुझे ट्यूशन के बाहर मिली और मैंने उसे अपनी मैथ की कॉपी दे दी और बोला तुम इसे घर ले जा सकती हो और जब तुम्हारा काम खत्म हो जाएगा तब तुम मुझे यह वापस कर देना।

उसने हां में सर हिलाया और हम दोनों एक दूसरे को देखते हुए मुस्कुराए और अपने अपने घर को चल दिए। अब हम दोनों की बहुत बातें होने लगी। हम दोनों ने एक दूसरे का नंबर भी ले लिया और व्हाट्सएप पर खूब चैटिंग करने लगे। एक दिन उसको मैंने प्रपोज कर दिया और उसने हां में जवाब दिया और हम दोनों डेटिंग करने लगे। एक दिन की बात है उसने मुझे बोला कि मुझे मैथ की इस एक्सरसाइज में कुछ समझ नहीं आ रहा और तुम मुझे मेरे घर आकर यह समझा देना।

मैंने बोला ठीक है और अगले दिन मैं उसके घर पहुंच गया। जब मैं उसके घर पहुंचा तो मैंने देखा कि उसके घर में कोई भी नहीं है और सिर्फ उसका छोटा भाई है जो शायद 10-12 साल का होगा। फिर वह मुझे अपने कमरे में ले गई और मुझे कोल्ड ड्रिंक ला के पीने को दी। गोल्ड में पीने लगा हूं और मेरा ध्यान उसकी तरफ गया तो उसने एक खुली टीशर्ट और पजामा पहन रखा था।

उसने शायद अंदर से ब्रा नहीं पहनी थी और उसकी चूचियां दिख रही थी। उसकी चूचियों की तरफ जब मेरा ध्यान गिरा तो मेरा लन्ड खड़ा हो गया और मैं किसी तरह अपने लन्ड को छुपाने लगा। हम वो मेरे पास आकर बैठ गई और मैंने उसे समझाना शुरू कर दिया। को बार-बार मेरी पीठ पर और जांघों पर हाथ फेर कर कहती वाह शाबाश तुम तो बहुत अच्छी तरह समझा रहे हो मुझे पूरा समझ आ रहा है।

फिर जब समझाते समझाते मैंने उसकी तरफ देखा तो वह मेरी तरफ देख रही थी और उसका ध्यान पढ़ाई पर नहीं था। जो मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने अचानक से मुझे किस करना शुरू कर दिया। मैंने भी उसे चूमना शुरू कर दिया और उसके होठों के रस का आनंद लेने लगा। उसके होठों का रस अमृत जैसा स्वाद दे रहा था। फिर मैंने धीरे से उसे बेड पर लिटाया और अपनी टीशर्ट उतारी और उसकी टीशर्ट भी उतार दी।

नीचे से कुछ नहीं पहना था और उसके बूब्स देखकर मैंने सीधे उन्हें में ले लिया और किसी छोटे बच्चे की तरह उन्हें चूसने लगा। वह अंगड़ाइयां लेने लगी और सिसकियां भरने लगी। फिर मैंने उसके सारे कपड़े उतार रहे हो और पत्नी भी सारे कपड़े उतारे फिर मैंने उससे खड़ा होने को कहा। फिर मैंने उसे बेड पर हाथ रखकर झुकने को कहा।

उसने वैसा ही किया और मैंने पीछे से अपना लंड उसकी चुत के अंदर डालना शुरू कर दिया। अभी मैंने आधा लंड उसकी चुत में घुस आया था कि वह बोली मुझे बहुत दर्द हो रहा है अपना लंड बाहर निकालो। लेकिन मैंने प्यार से उसकी गर्दन पर किस करते हुए उसके बूब्स को दबाते हुए आधे लंड से ही उसकी चुदाई करनी शुरू कर दी है।

तो थोड़ी देर बाद उसे आराम मिला तुम्हें जोर से एक झटका दिया और पूरा लंड उसकी चुत में घुस गया। दर्द के मारे उसकी आंखों में आंसू आ गए। और वो सिसक सिसक कर रोने लगी। लेकिन मैंने उसे धीरे धीरे लारा और उसके बदन पर प्यार से हाथ से तरह थोड़ी देर बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने उसे अब अच्छी तरह से चोदना शुरु कर दिया।

अब वह भी चुदाई का मजा ले रही थी और जैसे ही मैं उसे झटका देता उसके बूब्स आगे पीछे डोलते और वह अपने मुंह से कमाल की सेक्स भरी आवाज निकालती। करीबन 10 मिनट उसे चोदने के बाद मैंने सारा माल उसकी गांड पर निकाल दिया और उससे सीधा करके होठों पर किस करने लगा।

वो भी मुझे किस करने लगी और इस तरह हमने उस दिन सेक्स का भरपूर मजा लिया। उस दिन के बाद हम दोनों के रिश्ते और गहरे हो गए और हम अब काफी समय साथ बिताने लगे। उस दिन के बाद मैं उसे अब तक करीबन 5 बार चोद चुका हूं और अब वह भी जानबूझकर मुझसे लिपटती है और चुदाई का मजा लेना चाहती है।