ट्यूशन वाली चुदक्कड़ दीदी की गांड मारी

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी लोग। हिंदी सेक्स स्टोरीज की वेबसाइट पर आप सभी लोगों का स्वागत है। आज मैं आपके लिए एक नई कहानी लेकर आया हूं।

 मैं उम्मीद करता हूं कि आपको यह कहानी पसंद आएगी। मेरा नाम सुनील हैं। मैं 12वीं क्लास में पढता हूँ। यह कहानी मेरे स्कूल की हैं।

उस समय मेरी उम्र 19 साल थी और मैंने अभी नया नया सेक्स के बारे में सपने देखना शुरू किया था। मैं रोज की तरह स्कूल जा रहा था पर अब मेरे बोर्ड के एग्जाम नजदीक आ रहे थे। क्योंकि पढ़ने में मैं उतना ज्यादा होशियार नहीं था और मुझे टूशन क्लासिस की सख्त जरुरत थी।

इसलिए मेरे घर वालों ने मेरी ट्यूशन के लिए टीचर खोजना शुरू कर दिया। हमारे पड़ोस में एक दीदी रहती थी वो टूशन पढ़ाने थी। उनका नाम सोनम हैं। दिखने में वो बहुत सुन्दर और पढ़ाने के मामले में बहुत सख्त थी।

उनकी उम्र शायद 24 साल के करीब होगी। उनका फिगर एकदम कैटरीना कैफ जैसा है और दिखने में भी मुझे बहुत ही ज्यादा आकर्षित लगती है। आये दिन उनके घर पर कोई न कोई अपने बच्चों की ट्यूशन रखवाने के लिए आता जाता रहता था।

मेरे घर वालों ने तो मेरी ट्यूशन रखो आते वक्त साफ-साफ कह दिया था कि अगर यह पढ़ाई ना करें तो उसकी जमकर पिटाई कीजिएगा। उन्होंने मुझे दिन में 3 बजे का समय दिया। अगले दिन से मैंने उनके पास ट्यूशन जाना शुरु कर दिया।

अब पहले तो एक हफ्ता उन्होंने मुझे कुछ नहीं कहा। लेकिन जब मैंने पत्नी पर ध्यान नहीं दिया तो उन्होंने मेरे पापा को अपने घर बुला लिया और उनसे मेरी शिकायत कर दी।

मेरे पापा ने उनके सामने ही मुझे जो जोर से दो थप्पड़ लगा दिए और मुझे नालायक उल्लू वगैरा कहने लगे। दीदी ने कहा अरे इसे मारिए मत मैं और ज्यादा ध्यान दूंगी और इसे अच्छे से पढ़ाऊंगी। उस दिन मेरी पढ़ाई होता देखा दीदी को मेरे प्रति बहुत ही ज्यादा सहानुभूति होने लगी।

उन्होंने मुझ पर अब ज्यादा ध्यान देना शुरू कर दिया था। उनका मेरे प्रति पूरा रवैया ही बदल चुका था। अब जब भी मैं उनके पास पढ़ने जाता वो मुझे प्यार से अपने पास बिठाती और बड़े प्यार से मुझे पढ़ाती थी।

ऐसा करीब एक महीना चला अब हम ट्यूशन वाली दीदी और मेरे बीच बातचीत अच्छी होने लगी। हम दोनों आपस में बहुत घुल मिल गये थे। एक दिन मैं मोबाइल लेकर टूशन चला गया जब दीदी दूसरे कमरे में कपडे बदल रही थी मैंने गेट खटखटाया अंदर से आवाज आई आ जाओ और दूसरे रूम में बैठ जाओ।

उन्होंने बोला में जरा कपडे बदल कर आ रही हूँ। लेकिन उस कमरे का दरवाजा खुला हुआ था और मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने अंदर झांक कर देखा। जब मैंने उन्हें अंदर झाँक के देखा उस समय दीदी ने अपने सारे कपडे उतार रखे थे और अपनी कुर्ती को प्रेस कर रही थी।

वह शायद अभी अभी नहा कर बाथरूम से निकली थी और पहली बार मैंने उनको पूरा नंगा देखा था। उनका बदन एकदन गोरा था और दिखने में बहुत सेक्सी फिगर था। वो पतली थी और उनके चूतड़ उठे हुए और उनके बूब्स बिलकुल गोल थे!

अचानक उन्हें लगा की उन्हें कोई देख रहा है तो उन्होंने पीछे मुड़के देखा तो मैं एकदम पीछे हट गया। अब मुझे लगा की उन्होंने मुझे देखा नहीं हैं पर वो मुझे देख चुकी थी लेकिन उनहोने मुझे कुछ कहा नहीं।

अब मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो चूका था मैं अपने लन्ड को बार बार सहला रहा था। अब मेने अपने लन्ड को बहार निकाल कर हिलाना शुरु ही किया था। तभी अचानक से ट्यूशन वाली दीदी पलटी और दरवाजे के सामने आई और मुझे लंड हिलाते पकड़ लिया।

टूशन वाली दीदी बोली ये क्या कर रहे हो तुम्हे बिलकुल भी शर्म नहीं आ रही। पर खुद भूल गई की वो तरह से नंगी हैं। मेने नजरे झुका ली और उनकी चुत को देखने लगा। मेरा लन्ड बार बार हिचकोले खा रहा था।

अब टूशन वाली दीदी ने मेरा सर ऊपर किया और मुझे शरारती आंखों से देखा। फिर उन्होंने मुझे अंदर कमरे में खींच लिया और मुझे किस करने लगी।

उन्होंने एक हाथ से मेरे लन्ड पर रखकर उसे सहलाने लगी और दूसरे हाथ से मेरे हाथ को पकड़ के अपने बूब्स के ऊपर रख के सायला में लगी। फिर उन्होंने मुझे बेड पर लिटाया और मेरे लन्ड को अपने मुँह में ले लिया।

अब वो मेरे लंड को बड़े ही प्यार से चूसने लगी लेकिन हम भी उन्होंने मेरे लंड को चार पांच बार ही पूछा था कि उनके मुंह में ही झड़ गया।

वो उठी और पहले कुल्ला करके आई। जब तक में दुबारा तैयार हो चूका था टूशन वाली दीदी के साथ सेक्स करने लिए। जैसी वो अंदर आई मैंने उन्हें उनके बेड पर धक्का दिया और उनके ऊपर चढ़ गया।

मेने उनके होठो को चूमने लगा और धीरे धीरे धीरे नीचे की तरफ बढ़ता गया फिर मेने उनकी निपल्स को काटना शुरू कर किया!

तभी उनकी चीख निकली अरे तू इतने अच्छे हो आज तक में ऐसा सिर्फ वीडियोस में देखती थी। आज पहली बार ऐसा करने को मिला।

अब मेने अपना लन्ड उनकी चुत पर रखा और उनकी चूत पर रगड़ने लगा। फिर मैंने एक जोरदार झटका दिया और अपना लंड उनकी चूत के अंदर घुसा दिया।

उनकी चूत बिल्कुल भी टाइट नहीं थी जिससे पता लग रहा था कि वह एक नंबर की चुदक्कड़ है। लेकिन मैं उन्हें तेजी से झटके देने लगा और अपना लंड जल्दी-जल्दी अंदर-बाहर करने लगा।

आ ट्यूशन वाली दीदी का भी पानी छूटने को हो गया था और वो मुझे बोली और तेज और तेज मजा आ रहा हैं…. आह…. आह सुनील मजा आ रहा हैं…. शाबाश…. और तेज….!

मैं उन्हें तेजी से चोदने लगा और वह झड़ गई और उनकी चूत में सारा पानी छोड़ दिया।

लेकिन मेरा मन नहीं भरा था वह अब मैंने सोचा चूत मारने में मजा नहीं आ रहा उनकी गांड मारता हूं। फिर मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और गांड की छेद पर अपना लंड रखा और एक जोरदार झटका दिया।

क्योंकि उनकी गांड बहुत टाइट थी इसलिए मेरा सुपारा ही अंदर घुसा और वह दर्द के मारे चिल्ला उठी। लेकिन वह थोड़ा संभल की और मैंने फिर एक जोर का झटका दिया और लंड पूरा अंदर चला गया।

उन्हें अब दर्द हो रहा था लेकिन मजा भी बहुत ज्यादा आने वाला था। थोड़ी देर में वह गांड मटका मटका कर लंड अंदर लेने लगी और करीबन 10 मिनट तक गांड मारने के बाद मैं भी झड़ने वाला था।

इसलिए मैंने अपना लंदन की गांड से निकाला और उनके बूब्स के ऊपर सारा माल गिरा दिया। फिल्म थोड़ी देर तक वही लेटे रहे। फिर हम दोनों ने एक दूसरे को किस किया अपने कपड़े पहने और वो ट्यूशन पढ़ाने लगी है।