सगी चाची की चुदाई – 1

हेलो दोस्तों कैसे है आप सभी, मै आशा करता हु की आप सभी बहुत अच्छे से होंगे और मस्त अपनी लाइफ में चुदाई मचा रहे होंगे।
मेरा नाम अमित है और मै कानपूर का रहने वाला हूँ। मेरे फॅमिली में मम्मी , पापा और मै बस हम तीन ही लोग है, यह कहानी मेरी सगी चाची और मेरी बिच चुदाई की है.

चाचा – चाची हम्हारे घर के पास ही रहते है तो हमारा उनके घर आना जाना लगा रहता है. मेरी पापा और चाचा की भी अच्छी बनती है. कभी वह हम्हारे घर तो कभी हम उनके घर लंच या डिनर पे चले जाते है. हम्हरा काफी अच्छा फॅमिली बांड था.

मै मेरी चाची के बारे मे भी बतादू, मेरी चाची की उम्र करीब ३४ साल है, वह दिखने मे बिलकुल बॉलीवुड एक्ट्रेस लारा दत्ता की तरह लगती है, ३५ की चूचिया, ३२ का कमर और ४० की गांड। बाला की खूसूरत है उनका जिस्म.

मै तो बस चाची की गांड का दीवाना था. शुरू शुरू मे तो मेरे मन मे चाची के लिए कोई गलत भावना नहीं थी. पर पिछले कुछ महीनो से चाची की नेचर मे कुछ ज्यादा ही चेंज आया था. वह कुछ ज्यादा ही खुल कर मेरे से बात करने लगी थी. जब मे उनको अपनी बाइक पे बैठा कर मार्केट ले जाता था तो चाची कुछ ज्यादा ही मेरे से चिपक कर बैठने लगी थी. बार बार मुझे टच करने की कोसिस करती थी.

चाची की यह सब हरकरतो ने मुझे भी उनके जिस्म के बारे में सोचने के लिए माझ्बुर कर दिया था.

एक दिन हम्हारे गाओ से खबर आई की हम्हारे किसी रिलेटिव की डेथ हो गई है और हम सभी को गाओ जाना पड़ेगा. पर उस टाइम मेरे कॉलेज में एग्जाम स्टार्ट होने वाले थे इस लिए में नहीं जा सकता था और मेरे साथ मम्मी या चाची में से किस एक का रुकना जरुरी था मेरे खाने का ध्यान रखने के लिए.

जब यह सब डिस्कशन चल रहा था तब हम सब फॅमिली वाले वही बैठे थे, तो जैसे ही यह बात छिड़ी की मेरे साथ कौन रुकेगा तो चाची ने तुरंत ही बोल दिया की मै रुक जाओगी.

अगले दिन सब कोई कार से गाओ चले गए, मै भी कॉलेज चला गया. अभी तक तो सब नार्मल ही चल रहता था. पर जब मै शाम को कॉलेज से आकर अपने घर आकर सोचने लगा की कैसे चाची की चुत मारी जाए. आपने रूम मे लेता लेता यह सोच ही रहा था की चाची का कॉल आ गया।

चाची:- अमित खाना बन गया है आजाओ.
मै :- ठीक है चाची मै आता हूँ.

फिर मै जल्दी से चाची के घर के लिए निकल गया.

चाची ने जैसे ही गेट खोला मै तो उनको देखते ही पागल हो गया, चाची ने आज साड़ी पहन राखी थी ब्लैक कलर की, क्या बोलो दोस्तों क्या मस्त माल लग रही थी. साड़ी मे चाची का फिगर बहुत सेक्सी लग रहा था.

चाची:- अब गेट पे ही खड़े रहोगे क्या ? अंदर आओ जल्दी से.
मै :- आज तो आप बहुत खुबशुरत लग रही हो चाची.

यह बोलते हुए मै अंदर चला गया.

चाची :- सिर्फ खूबसूरत ??
मै :- नहीं आप तो बहुत सेक्सी लग रही हो.

(फिर मै और चाची हॉल मे बैठ गए।)

चाची:- और बताओ अमित क्या चल रहा है आज कल लाइफ मे ?
मै:- कुछ नहीं चाची बस कॉलेज और क्या ….

चाची:- अमित तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या ?
मै:- नहीं चाची मुझे लड़कीओ मे इंटरेस्ट नहीं है.
चाची :- फिर किस में इंटरेस्ट है तुम्हारा ??

यह बात बोलते हुए चाची मेरे और करीब आकर बैठ गई.

मै :- चाची मुझे तो भाभियाँ और अपने से बड़ी औरते अच्छी लगती है
चाची :- एसा क्यों ??
मै :- नहीं चाची मै आपको नहीं बता सकता आप बुरा मान जाओगी.
चाची:- नहीं मानूगी बाबा ?

मै :- भाभियो सब के फिगर मुझे बहुत सेक्सी लगते है और उनको एक्सपीरियंस भी अच्छा होता है.
चाची :- अच्छा यह सब रहने दो, यह बताओ की मै कैसी लगती हूँ तुमको ??

मै :- नहीं चाची आपको बुरा लग जाएगा.
चाची :- नहीं लगेगा बाबा तुम तो खुल कर बताओ.
मै :- चाची आप मुझे बहुत सेक्सी और हॉट लगती हो और खास कर के……..

(यह बोलते हुए मै रुक गया बिच मै ही।)

चाची :- क्या खास करके अमित बोलो ना.
मै :- नहीं चाची आपको बुरा लग जाएगा.

चाची :- अमित मेने तुमको बोला न मुझे बुरा नहीं लगेगा, तुम खुल कर बताओ ?
मै :- चाची मुझे आपकी गांड बहुत सेक्सी लगती है, जब आप चलती तो आपकी गांड देख कर मन करता है की आपकी गांड को दबादु.

चाची :- तो दबालो मना किस ने क्या है ??

चाची की बात सुने ही मैने उन्हें अपनी और खींच कर कीस करने लगा, चाची भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

चाची :- अमित चलो बैडरूम में चलते है.

फिर मैने चाची को गोद में उठा लिया और उन्हें बैडरूम में ले गया. रूम में जाते ही हम दोनों ने जल्दी से अपने कपडे उतरे और एक दूसरे को पर टूट पड़े. थोर्डी देर किस करने के बाद मै चाची की गर्दन से होते हुए उनकी चुत तक पंहुचा और उनकी चुत चाटने लगा.

चाची :- आ आ आ आ आ अमित और जोर से चाटो आ आ आ आ मुझे बहुत मज़ा आ रहा है.

१० मिनट चाची की चुत चाटने के बाद चाची झड़ गई.

चाची :- आ अअअअअ आआआ आआआआ अमित आ अअअअअ अअअअअअअ आ.

अब टाइम था चाची की चुत मारने का, तो मैने ज्यादा टाइम ना लेते हुए अपना लंड चाची के मुँह मे दे दिया, चाची मेरा लंड बहुत प्यार से लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी.

फिर मैने चाची को जल्दी से लेता कर अपना लंड उनकी चुत मे दाल दिया और उन्हें ताबड़ तोड़ चोदने लगा.

चाची:- आ आआ आआआ आआ अ अमित और जोर से चोदो आ आ आ आ आआआ अअअअअअअ.
मै :- आ आ आ आ अ हां चाची क्या चुत है आपकी मजा आ रहा है आ आ आआ अअअअअअअ आआआ.

करीब २५ मिनट चाची की चुत मारने के बाद मेरा मुठ निकलने वाला था.

मै :- आ अ आ आ अ अ चाची मेरा मुठ निकलने वाला है, कहा निकालू ?
चाची :- अभी तो मेरे अंदर ही निकाल दे बाद मै तेरा मुठ भी चखूगी.

१०-१५ ढको के बाद मैने चाची की चुत को अपने मुठ से भर दिया. और फिर हम दोनों वही लेट गए. फिर ५ मिनट आराम करने के बाद चाची नंगी ही किचन मे चली गई. जब वह जा रही थी तब पीछे से उनकी गांड देख कर मेरा मन उनकी गांड मारने का होने लगा.

अभी के लिए इतना ही नेक्स्ट पार्ट मे आपको बताउगा की कैसे मैने चाची को गांड मरवाने के लिए मनाया.

धन्यवाद