मेरी पोर्न वीडियो जैसा सेक्स करने की तलब पूरी हुई

हेलो दोस्तों हिंदी सेक्सी स्टोरीज की वेबसाइट पर आप सभी लोगों का स्वागत है। आज मैं आप सभी लोगों को एक ऐसी कहानी बताने जा रही हूं जो सचमुच में मेरे साथ बीती है। और मैं उम्मीद करती हूं कि आपको यह कहानी पसंद आएगी।

मेरा नाम शिखा है। और मेरी उम्र 25 साल की है। घर वालों ने मेरी शादी की साल की उम्र में ही कर ली थी जिसके कारण मेरी 2 साल की एक बेटी भी है।

मेरे पति काम के सिलसिले में घर से बाहर ही रहते थे इसलिए घर पर मैं अकेली ही रहती थी। इतना सारा दिन बोर होती रहती थी और मेरे पास करने के लिए कोई काम भी नहीं होता था। हम घर में सेट कर दो जो नहीं रहते थे इसलिए इतना कुछ ज्यादा काम होता भी नहीं था करने के लिए।

खाना भी पकाना होता था तो 2 मिनट में पक जाता था। इसलिए मैंने एक दिन ऐसे ही मोबाइल चला रही थी और मैंने एक सेक्स वीडियो देखी। मुझे देख कर बहुत ही अच्छा लगा।

अब मैं हर रोज पोर्न देखने लगी और अपनी चूत में उंगलियां करने लगी। हर रोज अब सेक्स कहानियां भी पढ़ती थी और उनका आनंद लेती थी। अब मेरे पति से मैं वह सब चीजें करवाना चाहती थी जो पोर्न फिल्मों में लड़का लड़की एक दूसरे के साथ करते थे।

लेकिन मेरे पति पुरानी खयालात वाले आदमी थे और बोल सिर्फ चूत में लंड डालकर ही काम खत्म कर देते थे। उन्हें चूसना और चाटना यह सब कुछ पसंद नहीं था। लेकिन एक दिन मैंने उनके लंड पर किस किया तो वह बोल पड़े तुम यह क्या कर रही हो ऐसा किसने बताया तुम्हें करने के लिए।

तुम्हें डर गई और मैंने कहा ऐसे ही मैंने टीवी पर देखा था। उन्होंने कहा क्या जमाना आ गया है टीवी पर भी ऐसी चीजें दिखाने लगी है। फिर वह सो गए और मैं भी सो गई।

फिर अगले दिन मुझे एहसास हो गया कि मुझे मेरे साथ ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे लेकिन मेरी प्यास बढ़ती जा रही थी और अब मुझसे कंट्रोल भी नहीं हो रहा था। हमारी बिल्डिंग में हमारे ऊपर वाले फ्लोर पर एक लड़का रहता था जिसका नाम रॉकी था।

दिखने में काफी हैंडसम था और उसकी उम्र शायद 25 साल के करीब होगी। मैंने उस पर डोरे डालने शुरू कर दिए और वह भी मुझे लाइन मारने लगा। मैं समझ गई कि यह मेरे जाल में फंस रहा है और यह मुझे बहुत सारा सुख और आनंद दे सकता है जो मेरा पति मुझे मना कर देता है।

लेकिन वह भी इतनी आसानी से कहा फाड़ने वालों में से था। उसने मुझे इग्नोर करना शुरु कर दिया और अब मेरी तरफ देखना भी बंद कर दिया था।

फिर एक दिन जब घर पर अकेली थी और तभी सिलेंडर वाला सिलेंडर देने के लिए आया। मैं नीचे गई और उस दिन हमारी लिफ्ट भी खराब थी। मुझे सिलेंडर उठाकर 4 फ्लोर ऊपर जाना था।

किसी तरह मैंने एक फ्लोर और तो चढ़ाई कर ली लेकिन उसके बाद मेरे पसीने छूट गए और मैं और ऊपर ना जा सकी। तभी रॉकी नीचे से ऊपर जा रहा था और उसने मेरी तरफ देखा।

उसने कहा क्या मैं आपकी मदद कर दूं तो मैंने कहा हां जरूर। तू अपनी सिलेंडर अपने कंधे पर उठा लिया और मेरे घर तक पहुंचा दिया। फिर मैंने उसे अंदर बुला लिया और बोला मैं तुम्हारे लिए चाय बनाती हूं।

वह बोला अरे कोई बात नहीं भाभी जी मैं फिर कभी पी लूंगा। लेकिन मैंने बहुत जिद की तो वह बैठ गया और मैंने उसके लिए चाय बना दे। जैसे ही मैं उसको चाहे देने के लिए आई ऑस्ट्रेलिया के नीचे झुकी तो मेरी कुर्ती थोड़ी छोटे गले वाली थी जिसके कारण मेरे बूब्स उसकी नजरों के सामने आ गए।

उसने कांपते हाथों से चाय उठाई। उसके माथे पर पसीना आने लगा था। मेरा ध्यान नीचे की तरफ गया तो मैंने देखा उसका लन्ड एकदम अकड़ कर खड़ा हो गया था।

फिर मैं उसके पास बैठ गई और उसके लंड पर हाथ रख दिया और उसे सहलाने लगी। मेरे असर करने से रॉकी जोश में आ गया उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया।

वह बड़ी ही तेजी से मेरे को किस कर रहा था और मेरे रसीले होठों का रस पी रहा था। फिर उसने कहा भाभी जी आपको नहीं पता मैं रोज रात को आपके ही सपने देखता हूं और हर रोज आपके नाम की मूठ मार कर सोता हूं।

आज मैं आपको आसानी से नहीं छोडूंगा। तो मैंने कहा आसानी से छूटना भी चाहता कौन है। पता नहीं इस दिन का इंतजार कितने दिनों से कर रही हूं।

उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए और अपने कपड़े भी उतार लिए और मुझे उठा कर बेडरूम में ले गया। वहां उसने मेरे बूब्स को चूसना शुरू किया और अपने एक हाथ से मेरी चूत सहलाने लगा।

मेरे शरीर में एक अजीब सी हलचल हो रही थी और मुझे ऐसा लग रहा था कि मानो मैं किसी दूसरी दुनिया में पहुंच चुकी हूं।

फिर उसने अपने हाथ के अंगूठे को मेरी चूत में घुसा दिया और उसे गोल गोल घुमाने लगा। मेरी सिसकियां निकलने लगी और मैंने उसे कस कर पकड़ लिया।

अब मैंने उसकी गर्दन पर एक लव बाइट दिया। जिसका निशान भी पड़ गया। फिर उसने अपना लंड मेरे हाथ में पकड़ा दिया और मैंने बिना देर किए उसे अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसने लगी।

पहली बार कोई लंड चूस रही थी और मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। तभी रॉकी ने मेरी टांगों को अपनी तरफ खींचा और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए।

वह मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा और अपनी चीज मेरी चूत के अंदर घुस आने लगा।

मैं भी उसके लंड को रंडियों की तरह चूस रही थी जैसा कि मैंने वीडियो में देखा था। तभी मुझे इतना ज्यादा आनंद प्राप्त हो रहा था कि मैं वही झड़ गई।

अब रॉकी ने अपना लंड बाहर निकाला और मेरी चूत पर रखते हुए एक जोर का झटका दिया और पूरा लंड मेरी चूत के अंदर घुसा दिया। किस कारण लगभग 8 इंच लंबा था।

जैसे ही उसने पीछे करके एक और धक्का दिया तो उसका लंड मेरे बच्चेदानी से का टकराया।

मैंने उसे कसकर पकड़ लिया और उसके झटकों का मजा लेने लगी। जब भी लंड मेरी चूत की तह से टकराता मेरे मुंह से एक आह की आवाज निकलती और मैं उससे लिपट जाती।

करीब ऐसे ही चुदाई करते करते 15 मिनट हो चुके थे। उसने मुझसे पूछा क्या तुम एक बार और मां बनना चाहोगी।

तो मैंने कहा हां बना दो मुझे। उसने इतना सारा वीर्य मेरे चुत के अंदर ही निकाल दिया।

मुझे ऐसा लगा जैसा मेरी चूत के अंदर कोई ज्वालामुखी फट गया हो। उस दिन की जुदाई के बाद मैंने और रॉकी ने कई बार कई तरीकों से सेक्स का मजा लिया और अब मैं पूरी तरह से संतुष्ट हूं।