जीजा ने साली के साथ मनाई सुहागरात

हेलो दोस्तों मेरा नाम विशाल है और मैं आपके लिए आज मेरे और मेरी साली के बीच गुजरी एक जबरदस्त रात की पूरी कहानी लेकर आया हूं उम्मीद करता हूं कि यह आप लोगों को पसंद आएगी।

मेरा लन्ड भी मेरे नाम की ही तरह बहुत विशाल है और इस लंड से मैं कई लड़कियों और औरतों की प्यास बुझा चुका हूं। लेकिन अब मेरी शादी हो गई है और अब मैं लड़कियों पर ज्यादा ध्यान भी नहीं देता। लेकिन कभी कभी मन भटक ही जाता है तो बीवी से बचते बचाते कभी कभी सेक्स कर लेता हूं।

मेरी शादी को 8 साल हो चुके हैं और मेरी बीवी भी बड़ी मस्त आइटम है। वह सेक्स के लिए तो हमेशा ही तैयार रहती है। मैं उसके साथ एक बार में तीन तीन चार चार बार लगातार सेक्स कर लेता हूं। तब जाकर उसकी प्यास लगती है लेकिन जब भी उसे खुजली होती है तो मैं उसकी पूरी संतुष्टि करवा देता हूं।

मेरी साली आज 5 सालों के बाद मेरे घर आ रही थी। इसलिए मैं घर पर ही था। जब साली घर आई तो मैं उसे देखकर हैरान रह गया। मैंने अपनी पत्नी से पूछा क्या यह सच में तुम्हारी बहन है जब मैंने इसे 5 साल पहले देखा था तो यह क्या थी अब कितनी बड़ी हो गई है।

मन ही मन में सोच रहा था अरे यह तो अपनी बहन से भी ज्यादा हॉट और खूबसूरत निकली। अगर इसकी चुत एक बार मिल जाए तो मजा ही आ जाए। फिर सॉरी मेरे पास आई और मेरे से बातें करने लगी।

साली – कैसे पहचानोगे मुझे 5 साल हो गए हैं आप कभी मुझसे मिलने भी आए जीजू।

मैं – अरे मुझे माफ कर दो मैं वादा करता हूं कि आगे से कभी ऐसा नहीं होगा।

साली – सच्ची….

मैं – मुच्ची….. हा हा हा।

फिर हम दोनों गले मिले और वह दीदी के साथ अपने कमरे में चली गई। क्योंकि उस दिन मेरी पत्नी बहुत थकी हुई थी इसलिए उसने जल्दी खाना बनाया और सोने के लिए अपने रूम में चली गई।

मैं शाम को एक दो पैग लगा रहा था तभी मेरी साली मेरे पास आकर बैठ गई। फिर मैंने उससे बातें करनी चालू कर दी और उससे कहा कि क्या तुम्हारे लिए भी बना दूं एक दो पैग।

साली – जीजू क्या है यह सब।

में – अरे इसे पीकर तुम्हें रात भर जो छूना है। समझी….

साली – इरादे आपके बहुत खतरनाक लग रहे हैं।

मैं – जिसकी साली इतनी खूबसूरत हो और इतनी खतरनाक हो उसके इरादे तो बेहकेंगे ही ना।

साली – सिर्फ एक पेग देख लूंगी जीजू।

मैं – ओके….. सिर्फ एक पेग बनाऊंगा।

साली – अरे मैं दीदी को तो देख कर आओ कि वह क्या कर रही है।

मैं – ठीक है मैं तुम्हारा इंतजार करता हूं।

यह क्या कर वह चली गई और थोड़ी देर बाद वापस मेरे पास आ गई। और वह बोली दीदी ने कहा की जाओ जय जीजा जी को खाना खिला दो और तुम भी खा लो मैं थोड़ा आराम करने लगी हूं।

साली – जीजू पीने के बाद मुझे कुछ मत करना।

मैं – अरे कुछ नहीं करूंगा। सिर्फ एक किस करूंगा सिर्फ एक…..

साली – पक्का एक ही ना

मैं – पक्का….।

इतना कहकर मैंने एक बड़ा पार्क साली के हाथ में थमा दिया और चीयर्स करते हुए बोला कि पी जाओ अब इसे। वह बोली जीजू इससे कुछ होगा तो नहीं तो मैंने कहा अरे कुछ भी नहीं होगा और मजा भी आएगा।

उसने एक घूंट पीया तो उसे अजीब सा लगा तो मैंने उसे कहा अरे कुछ नहीं होता। फिर उसे मैंने थोड़ा सा चखना दिया और कहा तुम तो मेरी खूबसूरत साली हो। मैंने कहा अरे पियो ना तो वह बोली जीजू बहुत कड़वा है मैंने कहा अरे कुछ नहीं होगा तुम पियो ना।

मैंने कहा एक ही बार में पी लो कड़वा एक बार ही लगता है बार बार नहीं लगता। फिर इतना कहते ही वह एक ही घूंट में पूरा का पूरा पेग गटक गई और अब उसे नशा चढ़ने लगा था। फिर मैंने उसे उठाया और बेडरूम में ले गया। मेरी बीवी दूसरे रूम में आराम से सो रही थी।

फिर तो मैंने साली को किस करना शुरू कर दिया और वह भी नशे में मुझे किस करने लगी। फिर थोड़ी देर बाद मैंने उसके सारे कपड़े उतारे और उसकी टांगों को झूमते हुए उसके बूब्स तक आ पहुंचा। फिर मैंने उसके बूब्स को अपने मुंह में ले लिया और उन्हें चूसने लगा। फिर उसे भी धीरे-धीरे मस्ती चढ़ने लगी।

और उसने भी मुझे सहलाना शुरु कर दिया। अब मैं उसकी चूचियों को जोर से चूम रहा था और वह भी जोर जोर से सिसकियां भर रही थी लेकिन मेरे कहने पर उसने अपनी आवाज को थोड़ा कंट्रोल किया था कि बगल के कमरे में सो रही मेरी बीवी कहीं जग ना जाए।

फिर मैंने थोड़ी देर उसकी चुत में उंगली की ओर अपना लन्ड उसकी चुत में घुसा दिया और उसे बड़े ही प्यार से धीरे-धीरे चोदने लगा। वह भी मेरे पीठ पर लगातार हाथ फेरे जा रही थी और चुदाई का आनंद ले रही थी।

फिर मैंने धीरे धीरे अपनी चोदने की रफ्तार बढ़ाई और अब उसे काफी जोर से और तेजी से चोदने लगा। अब उसके मुंह से कराहने की आवाजें निकलने लगी और उसने मुझे कस कर पकड़ लिया। लेकिनबहुत दिनों के बाद में किसी जवान चुत की चुदाई कर रहा था और इसमें मुझे बहुत मजा आ रहा था।

करीब 10 मिनट तक उसे चोदने के बाद जब वो झड़ गई तो मैंने भी अपना लन्ड उसकी चुत से बाहर निकाल कर सारा माल उसकी गांड पर निकाल दिया। फिर थोड़ी देर हम एक दूसरे की बाहों में बाहें डाल कर आराम से लेट गए।

क्योंकि शराब पी रखी थी और हम दोनों नशे में थे इसलिए जल्दी ही हम दोनों को नींद आ गई और हम दोनों नंगे ही एक दूसरे की बाहों में बाहें डाल कर सो गए। अगली सुबह जब वह उठी तो उसने मुझे जगाया।

साली – जीजू यह आपने क्या किया।

मैं – अरे कुछ नहीं होता पगली धीरे-धीरे इसकी आदत पड़ जाएगी।

साली – अगर दीदी को पता लगा तो वह बहुत गुस्सा होंगी।

मैं – दीदी को बताएगा कौन? तुम…..

यह सुनकर वह मेरी तरफ देख कर मुस्कुराने लगी और ना कभी उसकी मुस्कुराहट का जवाब अपनी मुस्कुराहट से देने लगा। फिर हम दोनों जल्दी से उठे और अपने अपने कपड़े पहने और मैं नहाने के लिए बाथरूम में चला गया और वह भी अपनी दीदी को जगाने उसके बेडरूम में चली गई।